शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद से दिया इस्तीफ़ा, मामा का सफर हुआ ख़त्म

Shivraj Singh Chouhan Resign In Cm Post : मध्य प्रदेश के चहेते नेता शिवराज सिंह चौहान अब पूर्व मुख्यमंत्री हो चले है जी हां दोस्तों आप सही सुन रहे है बहनों के दिलो में राज करने वाले मध्य प्रदेश के मामा शिवराज सिंह चौहान का मुख्य मंत्री पद का सफर ख़त्म हो चुका हैं। भारतीय जनता पार्टी ने सबको चौकाते हुए मुख्यमंत्री पद की रेस से बाहर रहे मोहन यादव को मध्य प्रदेश का अगला मुख्य मंत्री बना दिया है। शिवराज सिंह चौहान ने अपनी आगे की प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए राजभवन में जाकर राज्यपाल को अपना इस्तीफ़ा दे दिया है।

मामा का सफर हुआ ख़त्म

शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद में रहते हुए कई सारे रिकॉर्ड बनाये थे वो सबसे ज्यादा समय तक मुख्यमंत्री पद में रहने वाले व्यक्ति थे इससे भी बड़ा पद जो उन्होंने कमाया वो था मामा की उपाधि जो पुरे भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय रही शिवराज सिंह चौहान ने अपने राज नैतिक जीवन की शुरुआत अपने विधानसभा क्षेत्र बुधनी से की थी उन्होंने आज तक अपने क्षेत्र से कभी चुनाव नहीं हारा यही सबूत है उनकी लोकप्रियता का उन्होंने मुख्य मंत्री पद का भार साल 2005 संभाला था।

<

शिवराज सिंह चौहान को क्या मिलनी वाली है बड़ी जिम्मेदारी :

मध्य प्रदेश का इस बार का चुनाव किसी मैच के रोमांच से कम नहीं था चुनाव के पहले ये कयास लगाए जा रहे थे की इस बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन सकती है क्योंकि पिछले चुनाव में जनता ने BJP को हार का स्वाद चखा दिया था इसी चुनाव परिणाम के कारण इस बार 2023 के चुनाव में शिवराज सिंह चौहान को मुख्य मंत्री पद का चेहरा नहीं बनाया गया था।

हालांकि इस बार मध्य प्रदेश में BJP को रिकॉर्ड तोड़ जीत मिली है ऐसे में विशेषज्ञों का मानना है की इस जीत के पीछे शिवराज की लाड़ली बहना योजना है इस चुनाव में महिलाओं ने अपने भाई को खूब वोट दिए है क्योंकि सबसे अधिक वोट परसेंटेज महिलाओं का BJP के पक्ष में रहा लेकिन चुनाव परिणाम के बाद मुख्य मंत्री पद के लिए सबसे प्रबल दावेदार नरेंद्र सिंह तोमर , प्रहलाद पटेल, और ज्योतिरादित्य सिंधिया थे लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने नए चेहरे के रूप में मोहन यादव को चुना है।

अब ऐसे में माना जा रहा है की शिवराज सिंह चौहान का मुख्य मंत्री पद से इस्तीफ़ा केंद्र में किसी बड़ी जिम्मेदारी लेने की तरफ इसारा कर रहा है

मध्य प्रदेश के डिप्टी सीएम के लिए किसके नाम पर मुहर लगी

इस बार मध्य प्रदेश में दो डिप्टी सीएम के नाम पर मुहर लगाई गई है पहले का नाम जगदीश देवड़ा और दूसरा नाम राजेंद्र शुक्ला है इस बार भाजपा की और से विधायक दल की बैठक में कई चौकाने वाले फैसले लिए गए है। BJP ने इस बार हर वर्ग को ध्यान में रख कर पद का वितरण किया है क्योकि जगदीश देवड़ा SC वर्ग वही दूसरी ओर राजेंद्र शुक्ला सामान्य वर्ग और प्रदेश के मुख्य मंत्री OBC वर्ग से आते है।

राजेंद्र शुक्ला एक बहुत बड़े नेता है जनता ने उन्हें इस बार भी रीवा क्षेत्र से पांचवी बार अपने प्रतिनिधि के रूप में चुना है आपको बता दे इससे पहले भी वो मंत्री पद में थे उनके नाम एक अनोखा कीर्तिमान है उनको विधायक रहते हर बार मंत्री पद में रखा गया है। वही दूसरे डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा भी आठवीं बार विजय हासिल करके आये है। हालांकि राजनैतिक जानकार ऐसा मानते है की इस बार बीजेपी की तरफ से इन नए चेहरों को मौका देना एक वोट बैंक की राजनीति का हिस्सा है क्योंकि इस बार हर वर्ग को अपनी और आकर्षित करने का यह एक तरीका है

Leave a Comment

<